0
आपकी याद आती रही रात भर - पुरूषोत्तम अब्बी "आज़र"
आपकी याद आती रही रात भर - पुरूषोत्तम अब्बी "आज़र"

पुरुषोत्तम अब्बी आज़र साहब की यह ग़ज़ल मखदूम मोहिउद्दीन साहब की "  आपकी याद आती रही " ग़ज़ल की बहर पर लिखी गई है इस बहर पर फैज़ ने भी ...

Read more »

0
Alif laila -3 किस्सा व्यापारी और दैत्य का
Alif laila -3 किस्सा व्यापारी और दैत्य का

अलिफ़ लैला भाग - २ ( पिछला भाग ) किस्सा व्यापारी और दैत्य का शहरजाद ने कहा : प्राचीन काल में एक अत्यंत धनी व्यापारी बहुत-सी वस्त...

Read more »

0
बारिश आई चलो नहाए - यशु जान
बारिश आई चलो नहाए - यशु जान

बारिश आई चलो नहाए, इस बारिश में धूम मचाएं, काले बादल घनघोर घटाएँ, बारिश आई चलो नहाएं | अपने सखी सखा संग खेल, हम आनंद उठाएंग...

Read more »

0
हीरा जनम अनमोल था, कौड़ी बदले जाये  | कबीर जयंती पर विशेष लेख - प्रदीप कुमार सिंह
हीरा जनम अनमोल था, कौड़ी बदले जाये | कबीर जयंती पर विशेष लेख - प्रदीप कुमार सिंह

कबीर जयंती पर श्री प्रदीप कुमार सिंह का विशेष लेख आप सभी के लिए | आज समाज, देश और विश्व के देशों में बढ़ती हुई भुखमरी, अशिक्षा, बेरोज...

Read more »

0
दुनिया को बताते रहे मझधार पिताजी... - सचिन शाश्वत
दुनिया को बताते रहे मझधार पिताजी... - सचिन शाश्वत

दुनिया को बताते रहे मझधार पिताजी... मझधार में बनके रहे पतवार पिताजी... साया भी उन्हीं से है, सहारा भी उन्हीं का... बच्चों के लिए दर ...

Read more »

1
एक ऐसा शायर जो ताउम्र आग से खेलता रहा
एक ऐसा शायर जो ताउम्र आग से खेलता रहा

यगाना चंगेजी ( आस अज़ीमाबादी ) सिर्फ एक नाम नहीं, एक शायर ही नहीं, एक शोला थे, एक तहलका थे | 17 अक्टूबर 1884 को अजीमाबाद (पटना) में जन्मे मश...

Read more »
 
 
Top