2
दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई - गुलज़ार
दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई - गुलज़ार

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई जैसे एहसान उतारता है कोई आईना देख के तसल्ली हुई हम को इस घर में जानता है कोई पक गया है शज़र पे फल शायद फ...

Read more »

0
मैं नहीं जा पाऊँगा यारो सू-ए-गुलज़ार अभी - हबीब तनवीर
मैं नहीं जा पाऊँगा यारो सू-ए-गुलज़ार अभी - हबीब तनवीर

मैं नहीं जा पाऊँगा यारो सू-ए-गुलज़ार अभी देखनी है आब-जू-ए-ज़ीस्त की रफ़्तार अभी कर चुका हूँ पार ये दरिया न जाने कितनी बार पार ये दरिया ...

Read more »

1
मंजिले क्या है रास्ता क्या है - आलोक श्रीवास्तव
मंजिले क्या है रास्ता क्या है - आलोक श्रीवास्तव

मंजिले क्या है रास्ता क्या है हौसला हो तो फासला क्या है वो सजा देके दूर जा बैठा किस्से पुछू मेरी खता क्या है जब भी चाहेगा छीन लेगा वो...

Read more »

0
ना मै सोना, ना मै मोती, ना मै कोहेनूर हूँ - अबरार दानिश
ना मै सोना, ना मै मोती, ना मै कोहेनूर हूँ - अबरार दानिश

ना मै सोना, ना मै मोती, ना मै कोहेनूर हूँ कौन थामे हाथ मेरा, मै तो इक मजदूर हूँ बस गया है जेहन-ओ-दिल में यूँ मिरे तेरा गुरूर देखने व...

Read more »

0
जिन के आँगन में अमीरी का शजर लगता है - अंजुम रहबर
जिन के आँगन में अमीरी का शजर लगता है - अंजुम रहबर

जिन के आँगन में अमीरी का शजर लगता है उन का हर ऐब ज़माने को हुनर लगता है चाँद तारे मिरे क़दमों में बिछे जाते हैं ये बुज़ुर्गों की दुआओ...

Read more »

2
किनारे को भी हमसे किनारा चाहिए - चिन्मय शर्मा
किनारे को भी हमसे किनारा चाहिए - चिन्मय शर्मा

किनारे को भी हमसे किनारा चाहिए, साथ कहाँ अब उसको हमारा चाहिए। कश्ती में तुम्हारी ख्वाहिशें आती नहीं, तुम्हें किसी सफ़ीने का सहारा चाहिए।...

Read more »
 
 
Top