0
मेरा वजूद भी क्या है तुम्हे बताऊंगा- अज़ीज़ आज़ाद
मेरा वजूद भी क्या है तुम्हे बताऊंगा- अज़ीज़ आज़ाद

मेरा वजूद भी क्या है तुम्हे बताऊंगा जिस्म की कैद से जिस दिन भी निकल जाऊंगा मुझे नज़र की हदों में समेटने वालो ये कितनी तंग हदे है तुम्...

Read more »

0
जिस सदी में रखना हो उस सदी में रख देना - शिव शरण बंधु
जिस सदी में रखना हो उस सदी में रख देना - शिव शरण बंधु

जिस सदी में रखना हो उस सदी में रख देना मेरे सब गुनाहों को रोशनी में रख देना इश्क़ के उजालों की जब कभी ज़रूरत हो हम बुझे चराग़ों को तीरगी ...

Read more »

0
सामने कारनामे जो आने लगे - अर्पित शर्मा "अर्पित"
सामने कारनामे जो आने लगे - अर्पित शर्मा "अर्पित"

सामने कारनामे जो आने लगे, आईना लोग मुझको दिखाने लगे | जो समय पर ये बच्चे ना आने लगे, अपने माँ बाप का दिल दुखाने लगे | फ़ैसला लौट जाने ...

Read more »

0
बेसबब रूठ के जाने के लिए आए थे - मुजफ्फर हनफ़ी
बेसबब रूठ के जाने के लिए आए थे - मुजफ्फर हनफ़ी

बेसबब रूठ के जाने के लिए आए थे आप तो हमको मनाने के लिए आए थे ये जो कुछ लोग खमीदा हैं कमानोँ की तरह आसमानोँ को झुकाने के लिए आए थे हम क...

Read more »

2
नया विवाह - मुंशी प्रेमचंद
नया विवाह - मुंशी प्रेमचंद

हमारी देह पुरानी है, लेकिन इसमें सदैव नया रक्त दौड़ता रहता है। नये रक्त के प्रवाह पर ही हमारे जीवन का आधार है। पृथ्वी की इस चिरन्तन व्...

Read more »

0
घर की क़िस्मत जगी घर में आए सजन  - नजीर बनारसी
घर की क़िस्मत जगी घर में आए सजन - नजीर बनारसी

घर की किस्मत जगी घर में आए सजन ऐसे महके बदन जैसे चंदन का बन आज धरती पे है स्वर्ग का बाँकपन अप्सराएँ न क्यूँ गाएँ मंगलाचरण ज़िंदगी स...

Read more »
 
 
Top