होली पर कहे कुछ अशआर | जखीरा, साहित्य संग्रह

होली पर कहे कुछ अशआर

SHARE:

होली पर कई शायरों ने बहुत कुछ लिखा है उनमे प्रमुख नज़ीर अकबराबादी साहब है जिन्होंने लगभग हर त्यौहार पर चाहे हिंदू हो या मुस्लिम सभी त्यौहारों...

होली पर कई शायरों ने बहुत कुछ लिखा है उनमे प्रमुख नज़ीर अकबराबादी साहब है जिन्होंने लगभग हर त्यौहार पर चाहे हिंदू हो या मुस्लिम सभी त्यौहारों पर लिखा है | आप सभी के लिए कुछ अशआर पेश है :
यूँ ख़ुद को ख़्वाहिशात के अक्सर दिखाए रंग
होली में जैसे कोई अकेले उड़ाए रंग
- अख़तर बस्तवी



रात-भर लोग जलाते रहे होली के अलाव सुब्ह को मिल के चले रंग उड़ाने के लिए
रात-भर लोग जलाते रहे होली के अलाव
सुब्ह को मिल के चले रंग उड़ाने के लिए
- अख़तर बस्तवी



अब तो हर दिन मेरी होली
और हर रात दीवाली है
- अनीता मोहन



लो आया होली का त्यौहार
ख़ुशी में झूम उट्ठा संसार
- अबरार किरतपुरी



राग रंग और खेल तमाशे होली का उपहार
हृदय हृदय प्रेम जगाए प्यार भरा तेहवार
- अब्दुर्रहीम नश्तर



क्यूँ हम से हो बिगड़ते हम ने तो शैख़ साहब
होली से पेशतर ही तुम को बना दिया है
- अब्दुल रहमान एहसान देहलवी



न जाओ शैख़ जी आओ क़रीब है होली
ख़फ़ा न हो कि चले आते हैं ख़िताब के दिन
- अब्दुल रहमान एहसान देहलवी



इक तरफ़ राहत का और फ़रहत का काल
इक तरफ़ होली में उड़ता है गुलाल
- अर्श मलसियानी



ता-थय्या की लगती है सदा
फिर धूम मचाई होली ने

 फिर ढोल बजा रंग उड़ा
फिर धूम मचाई होली ने
- अर्श मलसियानी



फिर हवा-ए-तुंद ले कर आई होली की बहार
हाथ में पिचकारियाँ ले कर चले फिर मर्द-ओ-ज़न
- अर्श मलसियानी



जैसे कि बर्बादी की देवी छम-छमा-छम नाचती
होली मनाने के लिए मय-ख़ाने में आ ही गए
- अली जव्वाद ज़ैदी



ख़ूँ जवाँ ख़ून से होली खेलो
चंद क़दमों का सफ़र बाक़ी है
- आज़म ख़ुर्शीद



कर रहा हूं फिर सभी सौहार्द की बातें वही,
और ये भी जानता हूं मानेगा कोई नहीं।
- आदर्श बाराबंकवी



रंग रंगीली होली
छैल छबेली होली
- आदिल असीर देहलवी



अब धनक के रंग भी उन को भले लगते नहीं
मस्त सारे शहर वाले ख़ून की होली में थे
- आल ए-अहमद सूरूर



दोस्तो पर्व है होली का चलो हो कुछ यूँ कोई दुश्मन ना रहे रंग लगाओ कुछ यूँ
दोस्तो पर्व है होली का चलो हो कुछ यूँ
कोई दुश्मन ना रहे रंग लगाओ कुछ यूँ
- आतिश इंदौरी



महल तो होली दीवाली के लिए बने हैं
आग का रमक़ तो ला-वारिस का ख़ेमा होगा
- बाक़र नक़वी



हर एक फूल हुआ रंग-बार होली में
हर एक शाख़ है सूरत-निगार होली में
- बिर्ज लाल रअना



आज खेलेंगे मिरे ख़ून से होली सब लोग
कितना रंगीन हर इक शख़्स का दामाँ होगा
- बेताब सूरी



गले मुझ को लगा लो ऐ मिरे दिलदार होली में
बुझे दिल की लगी भी तो ऐ मेरे यार होली में
- भारतेंदु हरिश्चंद्र



गुलाबी गाल पर कुछ रंग मुझ को भी जमाने दो
मनाने दो मुझे भी जान-ए-मन त्यौहार होली में
- भारतेंदु हरिश्चंद्र



बख़्त ने फिर मुझे इस साल खिलाई होली
सोज़-ए-फ़ुर्क़त से ज़ि-बस मुझ को न भाई होली
- भारतेंदु हरिश्चंद्र



यूँ रुख़-ए-ज़र्द चमक उठता है आने पे तिरे
जैसे होली में कोई मल के गुलाल आता है
- चरख़ चिन्योटी



'राहुल' 'किशोर' 'गोपी'
खेलेंगे हम से होली
- फ़राग़ रोहवी



नाचती गा गा के होली दम-ब-दम
ज्यूँ सभा इन्दर की दर बाग़-ए-इरम
- फ़ाएज़ देहलवी



वो तमाशा ओ खेल होली का
सब के तन रख़्त-ए-केसरी है याद
- फ़ाएज़ देहलवी



होली के रंगों का धोका
चेहरों पर तहरीर हो जैसे
- फ़ैसल अज़ीम



जनता पे राज करती है डाकुओं की टोली
वो बच गए जुनूँ से खेली थी ख़ूँ की होली
- ग़ौस ख़ाह मख़ाह हैदराबादी



ख़ूँ से मिरे बच्चों के
दिन रात यहाँ होली
- हबीब जालिब



ख़ून से होली खेल रहे हैं धरती के बलवान
बगिया लहूलुहान
- हबीब जालिब



साक़ी है न मय है न दफ़-ओ-चंग है होली
क्या हाल है इमसाल ये क्या रंग है होली
- हातिम अली मेहर



अब की होली में रहा बे-कार रंग
और ही लाया फ़िराक़-ए-यार रंग
- इमाम बख़्श नासिख़



किस की होली जश्न-ए-नौ-रोज़ी है आज
सुर्ख़ मय से साक़िया दस्तार रंग
- इमाम बख़्श नासिख़



ग़ैर से खेली है होली यार ने
डाले मुझ पर दीदा-ए-ख़ूँ-बार रंग
- इमाम बख़्श नासिख़



ख़ुशी मनाते हो कहते हो मुझ को ईद 'निशात'
मगर मैं ख़ून की होली भी हूँ जलाओ मुझे
- इरतिज़ा निशात



सुनते हैं अब उन गलियों में फूल शरारे खिलते हैं
ख़ून की होली खेल रही हैं रंग नहाती दो-पहरें
- इशरत आफ़रीं



दीप जलाए रस्ता तकती रहती हूँ
वो आए तो ईद दिवाली होली है
- इशरत मोईन सीमा



वतन की आग बुझाओ .... वतन की आग बुझाओ
छोड़ के नफरत मिलजुल कर सब होली ईद मनाओ
- इकबाल



दिल में उठती है मसर्रत की लहर होली में
मस्तियाँ झूमती हैं शाम-ओ-सहर होली में
- ज़रीफ़ देहल्वी



पिए हुए हैं सभी आज तो मय-ए-होली
बहक रहा है हर इक बादा-ख़्वार होली में
- ज़रीफ़ देहल्वी



बहार आई कि दिन होली के आए
गुलों में रंग खेला जा रहा है
- जलील मानिकपूरी



हम से नज़र मिलाइए होली का रोज़ है
तीर-ए-नज़र चलाइए होली का रोज़ है
- जूलियस नहीफ़ देहलवी



अब के होली पे लगा रंग उतरता ही नहीं
किस ने इस बार हमें रंग लगाया हुआ है
- ज़िया ज़मीर



है अजब वक़्त की होली कि हर इक चक्कर पर
सूई चेहरे पे नया रंग है मलने वाली
- ज़ीशान साजिद



सखियाँ मिल मिल होली खेलें साँवरया के आँगन
घुँघट में गोरी शरमाए पिया मिलन के कारन
- ज़ुबैर रिज़वी



आज हर शख़्स को देती है सदाएँ होली
दोस्तो आओ चलो ऐसी मनाएँ होली
- कँवल डिबाइवी



क्या न आएगा कभी दहर में प्रहलाद का दौर
आग होली की किसी रोज़ बनेगी गुलज़ार
- कँवल डिबाइवी



कोई परी हो अगर हम-कनार होली में
तो अब की साल हो दूनी बहार होली में
- कल्ब-ए-हुसैन नादिर



फिर न बाक़ी रहे ग़ुबार कभी
होली खेलो जो ख़ाकसारों में
- कल्ब-ए-हुसैन नादिर



पूरा करेंगे होली में क्या वादा-ए-विसाल
जिन को अभी बसंत की ऐ दिल ख़बर नहीं
- कल्ब-ए-हुसैन नादिर



ये मत पूछो इस दुनिया ने कौन से अब त्यौहार दिए
दी हम को अंधी दीवाली ख़ून की होली बाबू-जी
- कुंवर बेचैन



ये होली उस ने जो खेली है आतिश-ओ-ख़ूँ की
सफ़ीर-ए-अम्न भी शश्दर है क्या किया जाए
- कौकब ज़की



कुछ अजब तर्ज़ की इस साल जली है होली
ज़िंदा लाशों की चिताओं का धुआँ हो जैसे
- कौसर सिद्दीक़ी



तुम होली भी खेलोगे मिरे दिल के लहू से
दामन भी बचाओगे ये मालूम नहीं था
- क़ैसर सिद्दीक़ी



हिन्दू-मुस्लिम मिल के मनाएँ, होली हो या ईद का मिलन
त्योहारों का रूप उजागर, चलिए चलकर गाँव में देखें
- कृष्ण बिहारी नूर



मुँह पर नक़ाब-ए-ज़र्द हर इक ज़ुल्फ़ पर गुलाल
होली की शाम ही तो सहर है बसंत की
- लाला माधव राम जौहर



दिखलाएँ किस मज़े से अब के बहार होली
खेले हैं सब जम्अ' हो क्या गुल-एज़ार होली
- लुत्फ़ुन्निसा इम्तियाज़



ये 'नानक' की ये 'ख़ुसरव' की 'दया-शंकर' की बोली है
ये दीवाली ये बैसाखी ये ईद-उल-फ़ित्र होली है
- मंज़र भोपाली



माँ की गुझिया मीठे पार्ले पूरी और कचौड़ी सोंधी
फीकी होली याद दिलाए टेसू वाले फाग की ख़ुशबू
- मधूरिमा सिंह



नहीं गाना तुम उन बच्चों के आगे गीत होली का।
जिन्हें पिछले बरस कर के गई बे-आसरा होली॥
- मासूम ग़ाज़ियाबादी



मेरे हिस्से के रंगों को तुम उन हथों में पहुंचाना।
वो जिनसे छीन कर के ले गई रंगे-हिना होली॥....
- मासूम ग़ाज़ियाबादी



आज है होली का दिन पीतम मिरे घर आएँगे
सामने जब मैं न आऊँगी बहुत घबराएँगे
- मैकश अकबराबादी



दरवाज़ों पर बुतों के लगाया किए अलाव
होली जलाई हम ने शिवालों के सामने
- मुनीर शिकोहाबादी



सजनी की आँखों में छुप कर जब झाँका
बिन होली खेले ही साजन भीग गया
- मुसव्विर सब्ज़वारी



डाल कर ग़ुंचों की मुँदरी शाख़-ए-गुल के कान में
अब के होली में बनाना गुल को जोगन ऐ सबा
- मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी



देखें तो क्यूँकर वो काफ़िर दर तक अपने न आवेगा
अब के होली में हम भी बूढ़े का साँग बनाते हैं
- मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी



मौसम-ए-होली है दिन आए हैं रंग और राग के
हम से तुम कुछ माँगने आओ बहाने फाग के
- मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी



शब जो होली की है मिलने को तिरे मुखड़े से जान
चाँद और तारे लिए फिरते हैं अफ़्शाँ हाथ में
- मुसहफ़ी ग़ुलाम हमदानी



रंगीनियों से आज मेरी आशनाई है होली नई बहार का पैग़ाम लाई है
गुलशन पे रंग व नूर की बदली सी छाई है
पौधों को है ख़ुमार, हवा पी के आई है
फूलों को देखिये तो अजब दिलरुबाई है

रंगीनियों से आज मेरी आशनाई है
होली नई बहार का पैग़ाम लाई है
-मुज़फ्फ़र हनफ़ी



आ धमके ऐश ओ तरब क्या क्या जब हुस्न दिखाया होली ने
हर आन ख़ुशी की धूम हुई यूँ लुत्फ़ जताया होली ने
- नज़ीर अकबराबादी



कपड़ों पे जमी रंग की धारें हैं अहाहा
सब होली है होली ही पुकारे हैं अहाहा
- नज़ीर अकबराबादी



परियों के रंग दमकते हों तब देख बहारें होली की
ख़ुम, शीशे, जाम, झलकते हों तब देख बहारें होली की
- नज़ीर अकबराबादी



हिंद के गुलशन में जब आती है होली की बहार
ज़फिशानी चाही कर जाती है होली की बहार
- नज़ीर अकबराबादी



जब फागुन रंग झमकते हो तब देख बहारे होली की
और दफ़ के शोर खदकते हो तब देख बहारे होली की
परियो के रंग दमकते हो तब देख बहारे होली की
ख़म शीशए जाम छलकते हो तब देख बहारे होली की
महबूब नशे में छलकते हो तब देख बहारे होली की
-नज़ीर अकबराबादी



अगर आज भी बोली-ठोली न होगी
तो होली ठिकाने की होली न होगी
- नज़ीर बनारसी



निगाहें करते चलो चार यार होली में
मिलो गले से गले बार बार होली में
- नज़ीर बनारसी



मनाऊँ किस तरह होली मैं दोस्तों के साथ
हैं सब के हाथ में ख़ंजर गुलाल थोड़ी है
- नादिम नदीम



तेरे गालों पे जब गुलाल गुलाल लगा
ये जहाँ मुझ को लाल लाल लगा
- नासिर अमरोहवी



दिन दहाड़े ये लहू की होली
ख़ल्क़ को ख़ौफ़ ख़ुदा का न रहा
- नासिर काज़मी



शब्दों की मधीरा से भिगो कर तिरी चोली
खेली है सहेली तिरे संजोग में होली
- नासिर शहज़ाद



वो ख़्वाबों ख़यालों में परियों की बातें
वो होली के दिन वो दिवाली की रातें
- नितिन नायाब



करें जब पाँव खुद नर्तन, समझ लेना कि होली है
हिलोरें ले रहा हो मन, समझ लेना कि होली है
- नीरज गोस्वामी



हमारी मूंछो को काट देना, जो हमने होली, के दिन ही आके
न भांग छानी, न गटकी दारू, न खाये गुझिये,तेरी गली में
- नीरज गोस्वामी



शिकवा गिला मिटाने का त्योहार आ गया।
दुश्मन भी होली खेलने को यार आ गया।।

परदेसी सारे आ गए परदेस से यहाँ।
अपना भी मुझको रंगने मेरे द्वार आ गया।।

सब लोग मिल रहे गले इक दूजे से यहाँ।
लगता है मुरली वाले के दरबार आ गया।।

-निज़ाम फतेहपुरी



मानो बुरा न यार है त्यौहार होली का।
खुशियाँ मनाने अपने मैं परिवार आया हूँ।।

छिपकर कहाँ है बैठा जरा सामने तो आ।
पहले भी रंगने तुझको मैं हर बार आया हूँ।।

-निज़ाम फतेहपुरी



वो तो घर में ही छिप के बैठे रहे,
'मुंतज़िर' मन मेरा था होली का...
- पवन मुंतज़िर



बादल आए हैं घिर गुलाल के लाल
कुछ किसी का नहीं किसी को ख़याल
- रंगीन सआदत यार ख़ाँ



एहसान-ए-रंग ग़ैर उठाते नहीं कभी
अपने लहू से खेल वो होली ही क्यूँ न हो
- रऊफ़ ख़ैर



दुनिया में फिर इक जंग होगी
खेलेंगे सब ख़ून की होली
- रफ़ी अहमद



इश्क़ की इक रंगीन सदा पर बरसे रंग
रंग हो मजनूँ और लैला पर बरसे रंग
- स्वप्निल तिवारी आतिश



सुर्ख़ रुख़्सारों पे हमने जब लगाया था गुलाल
दौड़कर छत पे चले जाना तेरा भूले नहीं
- सतपाल ख्याल



हमने क्या-क्या ख़्वाब देखे थे इसी दिन के लिए आज जब होली है तो वो घर से ही निकले नहीं
हमने क्या-क्या ख़्वाब देखे थे इसी दिन के लिए
आज जब होली है तो वो घर से ही निकले नहीं
- सतपाल ख्याल



हमारी होली है ईद है वो हर इक ख़ुशी की उमीद है वो
वो पास आए तो उस से पूछें तू इतने दिन से कहाँ था पहले
- सबीहा सदफ़



ये होली ईद कहती है भला कब अपने हाथों में
वफ़ा का रंग होगा प्यार की पिचकारियाँ होंगी
- सलीम रज़ा रीवा



छाई हैं हर इक सम्त जो होली की बहारें
पिचकारियां ताने वो हसीनों की क़तारें
- साग़र ख़य्यामी



है जश्न-ए-बहाराँ तो चलो होली मनाएँ
इस रंग के सैलाब में सब मिल के नहाएँ
- सागर खय्यामी



वो हम से मुजतनिब नहीं होली के नाम पर
हम ने मुराद पाई है होली के रूप में
- साग़र निज़ामी



साझे त्यौहार हैं होली हो कि ईद-ए-क़ुर्बां
ज़िंदगी कितनी दिल-आवेज़-ओ-दिल-आरा है यहाँ
- साहिर होशियारपुरी



कठ-पुतली ने होली खेली
और कंचों से गोली खेली
- सितवत रसूल



चमन में आज़िम-ए-होली है वो बसंती-पोश
हुआ है ग़ुंचा-ए-लाला गुलाल का शीशा
- सिराज औरंगाबादी



काश हासिल हो हक़ीक़ी ज़िंदगी का एक दिन
सरख़ुशी का एक लम्हा या ख़ुशी का एक दिन
- सीमाब अकबराबादी



होली हो या ईद हो,या कोई त्यौहार।
मक़सद तो है बांटना,इक दूजे का प्यार।
- सीमाब सुल्तानपुरी



होली आयी हसीं नग़मात का मौसम आया
रंग और नूर की बरसात का मौसम आया
- सुहैब अहमद फ़ारूक़ी



नफ़रतें आइए होली मे जला दें मिलकर
आज उलफ़त मे धुली रात का मौसम आया
- सुहैब अहमद फ़ारूक़ी



ता-ब-कै ये रस्म-ए-बेजा ता-ब-कै ये सुफ़्ला-पन
आओ खेलें ख़ून की होली जवानान-ए-वतन
- शातिर हकीमी



ख़ून-ए-नाहक़ हमारा उछलेगा
रंग लाया जो शोख़ होली में
- शाद लखनवी



होली नए क़ुमक़ुमों से खेलो
पर ख़ून-ए-दिल-ए-आशिक़ाँ उछालो
- शाद लखनवी



लब-ए-दरिया पे देख आ कर तमाशा आज होली का
भँवर काले के दफ़ बाजे है मौज ऐ यार पानी में
- शाह नसीर



बरसों बाद मिलेंगे अपनी मिट्टी से
खुल कर यार पुराने होली खेलेंगे
- शाहिद अंजुम



मैं तेरे गालों पे रंग लगाऊंगा
अपने और बेगाने होली खेलेंगे
- शाहिद अंजुम



गुलाल अबरक़ से सब भर भर के झोली
पुकारे यक-ब-यक होली है होली
- शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम



मुहय्या सब है अब अस्बाब-ए-होली
उठो यारो भरो रंगों से झोली
- शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम



होली के अब बहाने छिड़का है रंग किस ने
नाम-ए-ख़ुदा तुझ ऊपर इस आन अजब समाँ है
- शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम



साक़ी कुछ आज तुझ को ख़बर है बसंत की
हर सू बहार पेश-ए-नज़र है बसंत की
- उफ़ुक़ लखनवी



बाद-ए-बहार में सब आतिश जुनून की है
हर साल आवती है गर्मी में फ़स्ल-ए-होली
- वली उज़लत



सहज याद आ गया वो लाल होली-बाज़ जूँ दिल में
गुलाली हो गया तन पर मिरे ख़िर्क़ा जो उजला था
- वली उज़लत



रंगीं है यूँ बुतों की कैफ़-ए-निगह की गर्दिश
जूँ बुर्ज की फिरे है होली में मस्त जटनी
- वलीउल्लाह मुहिब



जो तूने मारी, नज़रों की पिचकारी,
भीग गये सजनी, हम तो तेरे संग में,
- विकास शर्मा 'दक्ष'



'दक्ष' गज़ब रही ये रंगों की बौछार,
यकबयक ढल गये तेरे रंग-ढंग में,
- विकास शर्मा 'दक्ष'



रंगता है तो रंग मुझे, अपने रंग में,
क्या है गुलाल-ओ-अबीर के रंग में,
- विकास शर्मा 'दक्ष'



कितनी हंसी ठिठोली में
दिन बीता है होली में
पड़ गये गिरधर ग्वाल अकेले
राधा की हमजोली में
-डॉ. ज़िया उर रेहमान जाफ़री



COMMENTS


Name

a-r-azad,1,aadil-rasheed,1,aalam-khurshid,2,aale-ahmad-suroor,1,aam,1,aankhe,1,aas-azimabadi,1,aashmin-kaur,1,aashufta-changezi,1,aatif,1,aatish-indori,3,abbas-ali-dana,1,abbas-tabish,1,abdul-ahad-saaz,3,abdul-hameed-adam,3,abdul-malik-khan,1,abdul-qaleem,1,abdul-qavi-desnavi,1,abhishek-kumar-ambar,4,abid-ali-abid,1,abid-husain-abid,1,abrar-danish,1,abrar-kiratpuri,1,abu-talib,1,achal-deep-dubey,2,ada-jafri,2,adam-gondvi,7,adil-lakhnavi,1,adnan-kafeel-darwesh,1,afsar-merathi,3,agyeya,1,ahmad-faraz,9,ahmad-hamdani,1,ahmad-kamal-parwazi,2,ahmad-nadeem-qasmi,6,ahmad-nisar,3,ahmad-wasi,1,ahsaan-bin-danish,1,ajay-agyat,2,ajay-pandey-sahaab,2,ajmal-ajmali,1,ajmal-sultanpuri,1,akbar-allahabadi,5,akeel-noumani,2,akhtar-ansari,2,akhtar-najmi,2,akhtar-shirani,6,akhtar-ul-iman,1,ala-chouhan-musafir,1,aleena-itrat,1,alhad-bikaneri,1,ali-sardar-jafri,6,alif-laila,63,alok-shrivastav,8,aman-chandpuri,1,ameer-qazalbash,1,amir-meenai,2,amir-qazalbash,3,amn-lakhnavi,1,amrita-pritam,1,aniruddh-sinha,1,anis-moin,1,anjum-rehbar,1,anton-chekhav,1,anurag-sharma,1,anwar-jalalabadi,1,anwar-jalalpuri,5,anwar-masud,1,armaan-khan,2,arpit-sharma-arpit,3,arsh-malsiyani,3,article,42,arzoo-lakhnavi,1,asar-lakhnavi,2,asgar-gondvi,2,asgar-wajahat,1,asharani-vohra,1,ashok-anjum,1,ashok-babu-mahour,3,ashok-chakradhar,2,ashok-lal,1,ashok-mizaj,9,asim-wasti,1,aslam-allahabadi,1,aslam-kolsari,1,atal-bihari-vajpayee,1,ateeq-allahabadi,1,athar-nafees,1,atul-ajnabi,3,atul-kannaujvi,1,audio-video,65,avanindra-bismil,1,azad-kanpuri,1,azhar-hashmi,1,azhar-sabri,2,azharuddin-azhar,1,aziz-ansari,2,aziz-azad,2,aziz-qaisi,2,azm-bahjad,1,baba-nagarjun,3,badnam-shayar,1,bahadur-shah-zafar,7,bahan,7,bal-sahitya,48,baljeet-singh-benaam,7,balmohan-pandey,1,balswaroop-rahi,1,baqar-mehandi,1,bashar-nawaz,2,bashir-badr,24,basudeo-agarwal-naman,5,bedil-haidari,1,bekal-utsahi,4,bekhud-badayuni,1,betab-alipuri,1,bewafai,2,bhagwati-charan-verma,1,bhagwati-prasad-dwivedi,1,bharat-bhushan,1,bhartendu-harishchandra,2,bholenath,2,bimal-krishna-ashk,1,biography,37,bismil-azimabadi,1,bismil-bharatpuri,1,braj-narayan-chakbast,2,chai,1,chand-sheri,8,chandra-moradabadi,2,chandrabhan-kaifi-dehelvi,1,charagh-sharma,1,charushila-mourya,1,chinmay-sharma,1,corona,5,daagh-dehlvi,16,darvesh-bharti,1,deepak-mashal,1,deepak-purohit,1,deepawali,9,delhi,2,deshbhakti,27,devendra-arya,1,devendra-dev,22,devendra-gautam,2,devesh-dixit-dev,4,devesh-khabri,1,devkinandan-shant,1,devotional,2,dhruv-aklavya,1,dil,47,dilawar-figar,1,dinesh-darpan,1,dinesh-pandey-dinkar,1,dohe,1,doodhnath-singh,3,dosti,7,dr-urmilesh,1,dushyant-kumar,9,dwarika-prasad-maheshwari,3,dwijendra-dwij,1,ehsan-saqib,1,eid,13,elizabeth-kurian-mona,5,fahmida-riaz,1,faiz-ahmad-faiz,14,fana-buland-shehri,1,fana-nizami-kanpuri,1,fani-badayuni,2,fanishwar-nath-renu,1,farhat-abbas-shah,1,farid-javed,1,farooq-anjum,1,fathers-day,6,fatima-hasan,2,fayyaz-gwaliyari,1,fazal-tabish,1,fazil-jamili,1,fazlur-rahman-hashmi,2,fikr,1,firaq-gorakhpuri,4,firaq-jalalpuri,1,firdaus-khan,1,gajanan-madhav-muktibodh,1,gajendra-solanki,1,gamgin-dehlavi,1,gandhi,5,ganesh,2,ganesh-bihari-tarz,1,ganesh-gaikwad-aaghaz,1,ghalib,61,ghalib-serial,1,ghazal,773,ghulam-hamdani-mushafi,1,golendra-patel,1,gopal-babu-sharma,1,gopal-krishna-saxena-pankaj,1,gopaldas-neeraj,6,gulzar,15,gurpreet-kafir,1,gyanprakash-vivek,2,habeeb-kaifi,1,habib-jalib,1,habib-tanveer,1,hafeez-jalandhari,3,hafeez-merathi,1,haidar-ali-aatish,5,haidar-bayabani,1,hamd,1,hameed-jalandhari,1,hanif-danish-indori,1,hanumant-sharma,1,hanumanth-naidu,1,harioudh,2,harishankar-parsai,3,harivansh-rai-bachchan,3,harshwardhan-prakash,1,hasan-abidi,1,hasan-naim,1,haseeb-soz,2,hashmat-kamal-pasha,1,hasrat-mohani,3,hastimal-hasti,5,hazal,1,heera-lal-falak-dehlvi,1,hilal-badayuni,1,himayat-ali-shayar,1,hindi,15,hiralal-nagar,2,holi,19,humaira-rahat,1,ibne-insha,7,imam-azam,1,imran-aami,1,imran-husain-azad,1,imtiyaz-sagar,1,Independence-day,21,insha-allah-khaan-insha,1,iqbal,9,iqbal-ashhar,1,iqbal-azeem,1,iqbal-bashar,1,irfan-ahmad-mir,1,irfan-siddiqi,1,irtaza-nishat,1,ishq,33,ismail-merathi,1,ismat-chughtai,2,jagan-nath-azad,5,jagjit-singh,7,jameel-malik,2,jamiluddin-aali,1,jan-nisar-akhtar,12,janan-malik,1,jauhar-rahmani,1,jaun-elia,10,javed-akhtar,14,jawahar-choudhary,1,jazib-afaqi,2,jazib-qureshi,2,jigar-moradabadi,9,josh-malihabadi,7,k-k-mayank,1,kabir,1,kafeel-aazar-amrohvi,1,kaif-ahmed-siddiqui,1,kaif-bhopali,6,kaifi-azmi,9,kaifi-wajdaani,1,kaisar-ul-jafri,3,kaka-hathrasi,1,kalim-ajiz,1,kamala-das,1,kamlesh-bhatt-kamal,1,kamlesh-sanjida,1,kamleshwar,1,kanval-dibaivi,1,kashif-indori,1,kausar-siddiqi,1,kavi-kulwant-singh,1,kavita,126,kavita-rawat,1,kedarnath-agrawal,3,khalid-mahboob,1,khalil-dhantejvi,1,khat-letters,10,khawar-rizvi,2,khazanchand-waseem,1,khudeja-khan,1,khumar-barabankvi,5,khurshid-rizvi,1,khwaja-meer-dard,4,kishwar-naheed,1,krishankumar-chaman,1,krishn-bihari-noor,9,krishna,6,krishna-kumar-naaz,5,kuldeep-salil,1,kumar-pashi,1,kumar-vishwas,2,kunwar-bechain,9,kunwar-narayan,2,lala-madhav-ram-jauhar,1,lata-pant,1,leeladhar-mandloi,1,lori,1,lovelesh-dutt,1,maa,16,madhavikutty,1,madhusudan-choube,1,mahaveer-uttranchali,5,mahboob-khiza,1,mahendra-matiyani,1,mahesh-chandra-gupt-khalish,2,mahmood-zaki,1,mahwar-noori,1,maikash-amrohavi,1,mail-akhtar,1,majaz-lakhnavi,9,majdoor,12,majnoon-gorakhpuri,1,majrooh-sultanpuri,3,makhdoom-moiuddin,7,makhmoor-saeedi,1,mangal-naseem,1,manglesh-dabral,2,manish-verma,3,manzoor-hashmi,2,maroof-alam,9,masooda-hayat,1,masoom-khizrabadi,1,mazhar-imam,2,meena-kumari,14,meer-anees,1,meer-taqi-meer,11,meeraji,1,mehr-lal-soni-zia-fatehabadi,5,meraj-faizabadi,3,milan-saheb,1,mirza-muhmmad-rafi-souda,1,mirza-salaamat-ali-dabeer,1,mithilesh-baria,1,miyan-dad-khan-sayyah,1,mohammad-ali-jauhar,1,mohammad-alvi,6,mohammad-deen-taseer,3,mohit-negi-muntazir,2,mohsin-bhopali,1,mohsin-kakorvi,1,mohsin-naqwi,1,moin-ahsan-jazbi,2,momin-khan-momin,4,mout,2,mrityunjay,1,mumtaz-hasan,3,mumtaz-rashid,1,munawwar-rana,26,munikesh-soni,2,munir-niazi,3,munshi-premchand,10,murlidhar-shad,1,mushfiq-khwaza,1,mustafa-akbar,1,mustafa-zaidi,1,mustaq-ahmad-yusufi,1,muzaffar-hanfi,17,muzaffar-warsi,2,naat,1,naiyar-imam-siddiqui,1,narayan-lal-parmar,3,naresh-chandrakar,1,naresh-saxena,2,naseem-ajmeri,1,naseem-azizi,1,naseem-nikhat,1,nasir-kazmi,6,naubahar-sabir,1,navin-c-chaturvedi,1,navin-mathur-pancholi,1,nazeer-akbarabadi,14,nazeer-banarasi,4,nazim-naqvi,1,nazm,116,nazm-subhash,2,neeraj-ahuja,1,neeraj-goswami,2,new-year,8,nida-fazli,28,nirmal-verma,1,nizam-fatehpuri,14,nomaan-shauque,4,nooh-aalam,1,nooh-naravi,1,noon-meem-rashid,2,noor-bijnauri,2,noor-indori,1,noor-mohd-noor,1,noor-muneeri,1,noshi-gilani,1,noushad-lakhnavi,1,nusrat-karlovi,1,obaidullah-aleem,2,om-prakash-yati,1,pandit-harichand-akhtar,4,parasnath-bulchandani,1,parveen-fana-saiyyad,1,parveen-shakir,11,parvez-muzaffar,4,parvez-waris,4,pash,5,pawan-dixit,1,payaam-saeedi,1,pitra-diwas,1,poonam-kausar,1,pradeep-kumar-singh,1,pradeep-tiwari,1,prakhar-malviya-kanha,2,pratap-somvanshi,2,pratibha-nath,1,prem-sagar,1,purshottam-abbi-azar,2,qaisar-ul-jafri,1,qamar-ejaz,2,qamar-jalalabadi,3,qamar-moradabadi,1,qateel-shifai,8,quli-qutub-shah,1,quotes,1,raaz-allahabadi,1,rabindranath-tagore,2,rachna-nirmal,3,rahat-indori,21,rahi-masoom-raza,7,rais-amrohvi,2,rais-siddiqui,1,rajendra-nath-rehbar,1,rajesh-reddy,7,rajmangal,1,rakhi,4,ram,26,ram-meshram,1,ram-prakash-bekhud,1,rama-singh,1,ramchandra-shukl,1,ramcharan-raag,1,ramdhari-singh-dinkar,3,ramesh-chandra-shah,1,ramesh-dev-singhmaar,1,ramesh-kaushik,1,ramesh-siddharth,1,ramesh-tailang,1,ramkrishna-muztar,1,ramkumar-krishak,1,ranjan-zaidi,2,ranjeet-bhattachary,1,rasaa-sarhadi,1,rashid-kaisrani,1,rauf-raza,1,ravinder-soni-ravi,1,rawan,3,rayees-figaar,1,razique-ansari,13,rehman-musawwir,1,review,3,rounak-rashid-khan,2,roushan-naginvi,1,rukhsana-siddiqui,2,saadat-hasan-manto,6,saadat-yaar-khan-rangeen,1,saaz-jabalpuri,1,saba-sikri,1,sabir-indoree,1,sachin-shashvat,2,saeed-kais,2,safdar-hashmi,1,safir-balgarami,1,saghar-khayyami,1,saghar-nizami,2,sahir-ludhianvi,15,sajid-hashmi,1,sajjad-zaheer,1,salahuddin-ayyub,1,salam-machhli-shahri,1,salman-akhtar,4,samar-pradeep,5,sameena-raja,1,sanjay-dani-kansal,1,sanjay-grover,2,sansmaran,7,saqi-faruqi,3,sara-shagufta,3,saraswati-kumar-deepak,2,saraswati-saran-kaif,2,sardaar-anjum,2,sardar-aasif,1,sarfaraz-betiyavi,1,sarshar-siddiqui,1,sarveshwar-dayal-saxena,5,satire,6,satish-shukla-raqeeb,1,satlaj-rahat,3,satpal-khyal,1,sawan,10,sayeda-farhat,1,seemab-akbarabadi,2,seemab-sultanpuri,1,shabeena-adeeb,1,shad-azimabadi,1,shafique-raipuri,1,shaharyar,21,shahid-anjum,2,shahid-kabir,2,shahid-kamal,1,shahid-shaidai,1,shahida-hasan,2,shahrukh-abeer,1,shaida-baghonavi,2,shaikh-ibrahim-zouq,2,shailendra,4,shakeb-jalali,2,shakeel-azmi,6,shakeel-badayuni,3,shakeel-jamali,4,shakuntala-sarupariya,2,shakuntala-sirothia,2,shamim-farhat,1,shamim-farooqui,1,shams-deobandi,1,shams-ramzi,1,shamsher-bahadur-singh,4,sharab,2,sharad-joshi,3,shariq-kaifi,2,shekhar-astitwa,1,sheri-bhopali,2,sherlock-holmes,1,shiv-sharan-bandhu,2,shivmangal-singh-suman,3,shola-aligarhi,1,short-story,13,shuja-khawar,1,shyam-biswani,1,sihasan-battisi,5,sitaram-gupta,1,special,24,story,39,subhadra-kumari-chouhan,4,sudarshan-faakir,4,sufi,1,sufiya-khanam,1,suhaib-ahmad-farooqui,1,suhail-azad,1,suhail-azimabadi,1,sultan-ahmed,1,sumitra-kumari-sinha,1,sumitranandan-pant,1,surendra-chaturvedi,1,suryabhanu-gupt,1,suryakant-tripathi-nirala,1,swapnil-tiwari-atish,2,syed-altaf-hussain-faryad,1,taaj-bhopali,1,tahir-faraz,3,tahzeeb-hafi,1,teachers-day,3,tilok-chand-mehroom,1,triveni,7,tufail-chaturvedi,3,umair-manzar,1,upanyas,68,vigyan-vrat,1,vijendra-sharma,1,vikas-sharma-raaz,1,vilas-pandit,1,vinay-mishr,2,viral-desai,2,virendra-khare-akela,9,vishnu-prabhakar,4,vivek-arora,1,vk-hubab,1,vote,1,wafa,3,wajida-tabssum,1,wali-aasi,2,wamiq-jaunpuri,1,waseem-akram,1,waseem-barelvi,9,wazeer-agha,2,yagana-changezi,3,yashu-jaan,2,yogesh-chhibber,1,yogesh-gupt,1,zafar-ali-khan,1,zafar-gorakhpuri,3,zafar-kamali,1,zaheer-qureshi,2,zahir-abbas,1,zahir-ali-siddiqui,5,zahoor-nazar,1,zaidi-jaffar-raza,1,zameer-jafri,4,zaqi-tariq,1,zarina-sani,2,zauq-dehlavi,1,zia-ur-rehman-jafri,45,
ltr
item
जखीरा, साहित्य संग्रह: होली पर कहे कुछ अशआर
होली पर कहे कुछ अशआर
https://1.bp.blogspot.com/-Kxos0p6W52E/YGHRVsqWKJI/AAAAAAAAVD4/QMkA34FnB9cZV1Wt3BsGM0c3WHs8xsVxACNcBGAsYHQ/s320-h320/raat%2Bbhar%2Blog%2B-%2Bakhtar%2Bbastavi.jpg
https://1.bp.blogspot.com/-Kxos0p6W52E/YGHRVsqWKJI/AAAAAAAAVD4/QMkA34FnB9cZV1Wt3BsGM0c3WHs8xsVxACNcBGAsYHQ/s72-c-h320/raat%2Bbhar%2Blog%2B-%2Bakhtar%2Bbastavi.jpg
जखीरा, साहित्य संग्रह
https://www.jakhira.com/2021/03/holi-par-kuch-sher.html
https://www.jakhira.com/
https://www.jakhira.com/
https://www.jakhira.com/2021/03/holi-par-kuch-sher.html
true
7036056563272688970
UTF-8
सभी रचनाए कोई रचना नहीं मिली सभी देखे आगे पढ़े Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU Topic ARCHIVE SEARCH सभी रचनाए कोई रचना नहीं मिली Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy Table of Content