0
वो तो मुद्दत से जानता है मुझे - बेकल उत्साही
वो तो मुद्दत से जानता है मुझे - बेकल उत्साही

आज सुबह बड़ी दुखद खबर आई उर्दू शायरी के बुजुर्गो में शामिल पद्मश्री बेकल उत्साही साहब अब नहीं रहे | ...

Read more »

0
उर्दू शायरी के प्रकार
उर्दू शायरी के प्रकार

उर्दू जबान अपने आप में बेहद मीठी जबान है और फिर इस जबान में शायरी का क्या कहना यह तो सोने पे सुहागा ...

Read more »

0
अब काम दुआओं के सहारे नहीं चलते - शकील जमाली
अब काम दुआओं के सहारे नहीं चलते - शकील जमाली

अब काम दुआओं के सहारे नहीं चलते अब काम दुआओं के सहारे नहीं चलते चाबी न भरी हो तो खिलौने नहीं चलते अब खेल के मैदान से लौटो मेरे बच्च...

Read more »

0
दश्ते-वहशत का सफ़र लगता है  - इम्तियाज़ सागर
दश्ते-वहशत का सफ़र लगता है - इम्तियाज़ सागर

दश्ते-वहशत का सफ़र लगता है इश्क़ भी कारे-हुनर लगता है शाख़ मौसम के सितम झेलती है फिर कहीं जा के समर लगता है हम की जिस राह पे चल निकले है...

Read more »

1
तीरो-तलवार से नहीं होता - महावीर उत्तरांचली
तीरो-तलवार से नहीं होता - महावीर उत्तरांचली

महावीर उत्तरांचली साहब उत्तराखंड के रहने वाले है आपका जन्म दिल्ली में २४ जुलाई १९७१ को हुआ | आप व...

Read more »

0
ख्वाब आँखों में जितने पाले थे - अभिषेक कुमार अम्बर
ख्वाब आँखों में जितने पाले थे - अभिषेक कुमार अम्बर

अभिषेक कुमार अम्बर जखीरा में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के लेखक है | आपका जन्म 07 मार्च 2000 को...

Read more »
 
 
Top