2
भारत प्यारा, देश हमारा, सब देशो से न्यारा है,
हर रूत, हर एक मौसम इस का, कैसा प्यारा-प्यारा है,
कैसा सुहाना, कैसा सुन्दर, प्यारा देश हमारा है |
दुःख में, सुख में हर हालत में, भारत दिल का सहारा है |
भारत प्यारा, देश हमारा, सब देशो से न्यारा है |

सारे जग के पहाडो में बे-मिस्ल पहाड़ हिमाला है,
यह परबत सब से ऊँचा है, यह परबत सब से निराला है,
भारत की रक्षा करता है, भारत का रखवाला है,
लाखो चश्मे बहते इस में, लाखो नदियोवाला है,
भारत प्यारा, देश हमारा, सब देशो से न्यारा है |

गंगाजी की प्यारी लहरे गीत सुनाती जाती है,
सदियों की तहजीब हमारी याद दिलाती जाती है,
भारत के गुलज़ारो को सरसब्ज़ बनाती जाती है,
खेतों को हरियाली देती, फूल खिलाती जाती है,
भारत प्यारा, देश हमारा, सब देशो से न्यारा है |

हरे-भरे है खेत हमारे, दुनिया को अन देते है,
चांदी सोने की कानो से हम जग को धन देते है,
प्रेम के प्यारे फूल की खुशबू गुलशन-गुलशन देते है,
अमनो-अमा की नेमत सब को भरभर दामन देते है,
भारत प्यारा, देश हमारा, सब देशो से न्यारा है |

कृष्ण की बंसी ने फुकी है रूह हमारी जानो में,
गौतम की आवाज़ बसी है, महलों में, मैदानों में,
चिश्ती ने जो दी थी मय, वह अब तक है पैमानों में,
नानक की तालीम अभी तक गूंज रही है कानो में,
भारत प्यारा, देश हमारा, सब देशो से न्यारा है |

मज़हब हो कुछ, हिंदी है हम, सरे भाई-भाई है,
हिंदू है या मुस्लिम है, या सीख है या ईसाई है,
प्रेम ने सब को एक किया है प्रेम के सब शैदाई है,
भारत नाम के आशिक है हम भारत के सौदाई है,
भारत प्यारा, देश हमारा, सब देशो से न्यारा है | - हामिद अल्लाह "अफसर" मेरठी

Roman

Bharat pyara, desh hamara, sab desho se nyara hai,
har root, har ek mausam is ka, kaisa pyara-pyara hai,
kaisa suhana, kaisa sundar, pyara desh hamara hai
Duhkh meN, sukh meN har halat meN, bharat dil ka sahara hai
Bharat pyara, desh hamara, sab desho se nyara hai

Sare jag ke pahaḍao meN be-misl pahad himala hai,
yah parabat sab se ooncha hai, yah parabat sab se nirala hai,
bharat kee raksha karata hai, bharat ka rakhavala hai,
lakho chashme bahate ismeN, lakho nadiyovala hai,
bharat pyara, desh hamara, sab desho se nyara hai

gangaajee kee pyari lahare geet sunati jati hai,
sadiyon kee tahajeeb hamaree yad dilatee jati hai,
bharat ke gulazaro ko sarasabz banatee jati hai,
kheton ko hariyalee detee, fool khilatee jati hai,
bharat pyara, desh hamara, sab desho se nyara hai

Hare-bhare hai khet hamare, duniya ko an dete hai,
chandee sone kee kano se ham jag ko dhan dete hai,
prem ke pyare fool kee khushaboo gulashan-gulashan dete hai,
amano-ama kee nemat sab ko bharabhar daman dete hai,
bharat pyara, desh hamara, sab desho se nyara hai

Krishna kee bnsee ne fukee hai rooh hamaree jano meN,
gautam kee avaz basee hai, mahalon meN, maidanoN meN,
chishtee ne jo dee thee may, vah ab tak hai paimanoN meN,
nanak kee taleem abhee tak goonj rahee hai kano meN,
bharat pyara, desh hamara, sab desho se nyara hai

Mazahab ho kuchh, hindee hai ham, sare bhai-bhai hai,
hindoo hai ya muslim hai, ya seekh hai ya isai hai,
prem ne sab ko ek kiya hai prem ke sab shaidai hai,
bharat nam ke ashik hai ham bharat ke saudai hai,
bharat pyara, desh hamara, sab desho se nyara hai . - Hamid Allah "Afasar' Merathi

Post a Comment

  1. ब्लॉग बुलेटिन टीम की और मेरी ओर से आप सब को ७० वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|


    ब्लॉग बुलेटिन की दिनांक 26/01/2019 की बुलेटिन, " ७० वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं“ , में आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  2. वाह बहुत सुन्दर देशभक्ति गीत।

    ReplyDelete

 
Top