0
वफ़ा और प्यार के ज़ज्बात वाले
बहुत अच्छे थे हम देहात वाले

ज़रुरत हाथ फैलाए खड़ी है
कहाँ हैं सब हमारे साथ वाले

हमारी एकता को मार देंगे
किसी दिन ये सियासी हाथ वाले

सितारे चाँद जुगनू दर्द आँसू
ये मेरे हम सफ़र हैं रात वाले

हमें भी आज़मा कर देख लेना
अभी मौजूद हैं कुछ बात वाले - राज़िक़ अंसारी

Roman

wafa aur pyar ke jazbaat wale
bahut achche the ham dehat wale

jarurat hath failaye khadi hai
kaha hai sab hamare sath wale

hamari ekta ko maar denge
kisi din ye siyasi hath wale

sitare chaand jugnu dard aansu
ye mere ham safar hai raat wale

hame bhi aajmaaN kar dekh lena
abhi moujud hai kuch baat wale - Razique Ansari
.

Post a Comment

 
Top