0
तादाद में हिन्दू न मुसलमान लिखे जाएं
कितने है अपने गांव में इंसान लिखे जाएं

दिल के तमाम ज़ख़्म भी रखना हिसाब में
जिस रोज़ भी एहबाब के अहसान लिखे जाएं

सच्चाई की राहों में परेशानियां तो हैं
लेकिन तमाम रास्ते आसान लिखे जाएं

कुछ और तो लिखने से कोई फ़ायदा नहीं
सरहद पे सिर्फ़ जंग के नुक़्सान लिखे जाएं - राज़िक़ अंसारी
#jakhira

Roman

tadad me hindu n musalman likhe jaye
kitne hai apne gaav me insan likhe jaye

dil ke tamam jakhm bhi rakhna hisab me
jis roz bhi ehbab ke ahsan likhe jaye

sachchai ki raaho me pareshaniya to hai
lekin tamam raste aasan likhe jaye

kuch aur to likhne se koi fayda nahi
sarhad pe sirf jung ke nuksan likhe jaye - Raziuqe Ansari
#jakhira

Post a Comment Blogger

 
Top