1
गणतंत्र दिवस के मौके पर आप सबको बधाई! आज इस मौके पर मुजफ्फर हनफ़ी साहब की एक नज्म पेश है :-

हरियाणा, कश्मीर, उड़ीसा, महाराष्ट्र, पंजाब
करें तुझे आदाब
कर्नाटक, बंगाल, आंध्रा, तमिल नाडु, आसाम
करते हैं प्रणाम
तेरे दरवाज़े पर सर ख़म केरल, राजस्थान
मेरे हिन्दुस्तान, मेरे हिन्दुस्तान

ताज, अजंता, काशी, साँची, दिल्ली और चित्तोड़
कितनी लम्बी दौड़
चिश्ती, नानक, खुसरो, गांधी, अकबर और अशोक
सब हिंसा की रोक
तेरी बाँकी आनबान है सब से ऊँची शान
मेरे हिन्दुस्तान,  मेरे हिन्दुस्तान

जैन, पारसी, सिख, ईसाई, हिन्दू, मुस्लिम सारे
तेरे राजदुलारे
बंगाली, पंजाबी, उर्दू, हिंदी और मलयालम
एक गीत के सरगम
तेरी ज़ात अज़ीम है सब से तेरी बात महान
मेरे हिन्दुस्तान, मेरे हिन्दुस्तान -  मुज़फ्फर हनफ़ी

Roman

Hariyana, Kashmir, odisha, Maharashtra, Panjab
kare tujhe adab
Karnatak, Bangal, Andhra, Tamilnadu, Asam
karte hai pranam
tere darwaje par khar kham Keral, Rajsthan
mere Hindustan, mere Hindustan

Taaj, Ajanta, Kashi, Sanchi, Delhi aur Chittod
kitni lambi doud
Chishti, Nanak, Khusro, Gandhi, Akbar aur Ashok
sab hinsa ki rok
teri baaki aanban hai sab se unchi shaan
mere Hindustan, mere Hindustan

Jain, Parsi, Sikkh, Isai, Hindu Muslim sare
tere rajdulare
Bangali, Panjabi, Urdu, Hindi aur Malyalam
ek geet ke sargam
teri jaat azeem hai, sab se teri baat mahaan
mere Hindustan, mere Hindustan- Muzffar Hanfi
#jakhira

देशभक्ति  शायरी, देश पर शायरी, आज़ादी की शायरी,

Post a Comment Blogger

  1. वो चंद लोग जो सारे वतन
    पर राज करते हैं ,
    समुंदर लूटकर कतरो से
    भी मोहताज करते हैं .

    ReplyDelete

 
Top