0
होश वालों को ख़बर क्या बेख़ुदी क्या चीज़ है
इश्क़ कीजे फिर समझिए ज़िन्दगी क्या चीज़ है

उन से नज़रें क्या मिली रोशन फिजाएँ हो गईं
आज जाना प्यार की जादूगरी क्या चीज़ है

ख़ुलती ज़ुल्फ़ों ने सिखाई मौसमों को शायरी
झुकती आँखों ने बताया मयकशी क्या चीज़ है

हम लबों से कह न पाये उन से हाल-ए-दिल कभी
और वो समझे नहीं ये ख़ामोशी क्या चीज़ है - निदा फ़ाज़ली

Audio


Roman

Roman
hosh walo ko khabar kya bekhudi kya cheez hai
ishq kije  phir samjhiye zindgi kya cheez hai

un se nazre kya mili roshan fizae ho gayi
aaj jana pyar ki jadugari kya cheez hai

khulti zulfo ne sikhai mousmo ko shayari
jhukti aankho ne bataya maikshi kya cheez hai

ham labo se kah n paye un se haale dil kabhi
aur wo samjhe nahi ye khamoshi kya cheez hai - Nida Fazli

Post a Comment Blogger

 
Top