6
तुम्हारा दिल मेरे दिल के बराबर हो नहीं सकता
वह शीशा हो नहीं सकता यह पत्थर हो नहीं सकता

कभी नासेह की सुन लेता हु फिर बरसो तडपता हु
कभी होता है मुझसे सब्र अक्सर हो नहीं सकता

यह मुमकिन है की तुझ पर हो भी जाये अख्तियार अपना
मगर काबू हमारा अपने दिल पे हो नहीं सकता

जफ़ाए झेल कर आशिक करे माशूक को जालिम
वगरना बेसबब कोई सितमगर हो नहीं सकता

जफ़ाए दाग पर करते है वह यह भी समझते है
की ऐसा आदमी मुझको मय्यसर हो नहीं सकता - दाग देहलवी

Roman

tumhara dil mere barabar ho nahi sakta
wah shisha ho nahi sakta yah patthar ho nahi sakta

kabhi naseh ki sun leta hu fir barso tadpata hu
kabhi hota hai mujhse sabr aksar ho nahi sakta

yah mumkin hai ki tujh par ho bhi jaye akhtiyar apna
magar kaabu hamara apne dil pe ho nahi sakta

Zafae jhel kar aashiq kare maashuq ko jaalim
warna besabab koi sitamgar ho nahi sakta

zafae daag par karte gau wah yah bhi samjhte hai
ki aisa aadmi mujhko mayssar ho nahi sakta - Daagh Dehlavi

Post a Comment Blogger

  1. मैं आपका इस ब्लॉगिस्तान में तहे दिल से स्वागत करता हूं। अल्लाह आपके ब्लॉग से नेकी के संदेश को आम करे। आपको उन तमाम सलाहियतों से नवाज़े जो एक बेहतरीन लेखक के लिये ज़रूरी हैं।

    ReplyDelete
  2. वाह.
    बहुत खूब.

    ReplyDelete
  3. हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं ई-गुरु राजीव हार्दिक स्वागत करता हूँ.

    मेरी इच्छा है कि आपका यह ब्लॉग सफलता की नई-नई ऊँचाइयों को छुए. यह ब्लॉग प्रेरणादायी और लोकप्रिय बने.

    यदि कोई सहायता चाहिए तो खुलकर पूछें यहाँ सभी आपकी सहायता के लिए तैयार हैं.

    शुभकामनाएं !


    "हिन्दप्रभा" - ( आओ सीखें ब्लॉग बनाना, सजाना और ब्लॉग से कमाना )

    ReplyDelete
  4. आपका लेख पढ़कर हम और अन्य ब्लॉगर्स बार-बार तारीफ़ करना चाहेंगे पर ये वर्ड वेरिफिकेशन (Word Verification) बीच में दीवार बन जाता है.
    आप यदि इसे कृपा करके हटा दें, तो हमारे लिए आपकी तारीफ़ करना आसान हो जायेगा.
    इसके लिए आप अपने ब्लॉग के डैशबोर्ड (dashboard) में जाएँ, फ़िर settings, फ़िर comments, फ़िर { Show word verification for comments? } नीचे से तीसरा प्रश्न है ,
    उसमें 'yes' पर tick है, उसे आप 'no' कर दें और नीचे का लाल बटन 'save settings' क्लिक कर दें. बस काम हो गया.
    आप भी न, एकदम्मे स्मार्ट हो.
    और भी खेल-तमाशे सीखें सिर्फ़ "हिन्दप्रभा" (Hindprabha) पर.
    यदि फ़िर भी कोई समस्या हो तो यह लेख देखें -


    वर्ड वेरिफिकेशन क्या है और कैसे हटायें ?

    ReplyDelete
  5. ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

    किसी भी तरह की तकनीकिक जानकारी के लिये अंतरजाल ब्‍लाग के स्‍वामी अंकुर जी, हिन्‍दी टेक ब्‍लाग के मालिक नवीन जी और ई गुरू राजीव जी से संपर्क करें ।

    ब्‍लाग जगत पर संस्‍कृत की कक्ष्‍या चल रही है ।

    आप भी सादर आमंत्रित हैं,
    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/ पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो हमारे फालोअर बनकर संस्‍कृत के प्रसार में अपना योगदान दें ।
    धन्‍यवाद

    ReplyDelete
  6. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    ReplyDelete

 
Top