0
aahuti आहुति मुंशी प्रेमचंद
aahuti आहुति मुंशी प्रेमचंद

मुंशी प्रेमचंद साहब के जन्मदिन के मौके पर उनकी यह कहानी पेश है आशा है आपको पसंद आएगी | आनन्द ने गद्देदार कुर्सी पर बैठकर सिगार जलाते हुए कहा...

Read more »

0
खुश्क मौसम रूत सुहानी ले गया - चाँद शेरी
खुश्क मौसम रूत सुहानी ले गया - चाँद शेरी

चाँद शेरी साहब के जन्मदिन के मौके पर उनकी यह गज़ल पेश है खुश्क मौसम रूत सुहानी ले गया चहचहाती जिंदगानी ले गया मंदिरों का, मस्जिदों का आ...

Read more »

0
eid miubarak ईद मुबारक  केदारनाथ अग्रवाल
eid miubarak ईद मुबारक केदारनाथ अग्रवाल

हमको, तुमको, एक-दूसरे की बाहों में बँध जाने की ईद मुबारक। बँधे-बँधे, रह एक वृंत पर, खोल-खोल कर प्रिय पंखुरियाँ कमल-कमल-साe खिल जान...

Read more »

0
मुझसे मत कर यार कुछ गुफ्तार, मै रोज़े से हूँ - ज़मीर जाफ़री
मुझसे मत कर यार कुछ गुफ्तार, मै रोज़े से हूँ - ज़मीर जाफ़री

रमज़ान का पाक़ महीना चल रहा है कुछ दिनों में ईद आ जायेगी इस रमज़ान के मौके पर आप सभी के लिए पकिस्तान के मशहूर हास्य व्यंग्य शायर सय्यद ज़म...

Read more »

0
गुनाहगार हूँ उसका जिसपे हरकत उबाल रखा है - अज़हर साबरी
गुनाहगार हूँ उसका जिसपे हरकत उबाल रखा है - अज़हर साबरी

गुनाहगार हूँ उसका जिसपे हरकत उबाल रखा है उकुबत के बावजूद भी सबका ख्याल रखा है हर पहलु को नज़र-अंदाज उसने किया फ़हम के साथ वो है मेरी बी...

Read more »
 
 
Top