0
जावेद अख्तर साहब को जन्मदिन मुबारक हो 

हमसे दिलचस्प कभी सच्चे नहीं होते है
अच्छे लगते है मगर अच्छे नहीं होते है

चाँद में दुनिया और बुजुर्गो में खुदा को देखे
भोले इतने तो अब ये बच्चे नहीं होते है

आज तारीख तो दोहराती है खुद को लेकिन
इसमें जो बेहतर थे वो हिस्से नहीं होते है

कोई मंजिल हो बहुत दूर ही जाती है मगर
रास्ते वापसी के लंबे नहीं होते है

कोई याद आये हमें या कोई हमें याद करे
और सब होता है ये किस्से नहीं होते है - जावेद अख्तर

Roman

hamse dilchasp kabhi sachche nahi hote hai
achche lagte hai magar achche nahi hote hai

chaand me duniya aur buzurgo me khuda ko dekhe
bhole itne to ab ye bache nahi hote hai

aaj taarikh to dohrati hai khud ko lekin
isme jo behtar the wo hisse nahi hote hai

koi manzil ho bahut door hi jati hai magar
raste wapsi ke lambe nahi hote hai

koi yaad aaye hame, ya koi hame yaad kare
aur sab hota hai ye kisse nahi hote hai - Javed Akhtar
#jakhira

Post a Comment Blogger

 
Top