1
मेरे हिन्दुस्तान  -मुज़फ्फर हनफ़ी
मेरे हिन्दुस्तान -मुज़फ्फर हनफ़ी

गणतंत्र दिवस के मौके पर आप सबको बधाई! आज इस मौके पर मुजफ्फर हनफ़ी साहब की एक नज्म पेश है :- हरिय...

Read more »

1
नाव दिल की डुबो रही है शाम - फ़िराक जलालपुरी
नाव दिल की डुबो रही है शाम - फ़िराक जलालपुरी

नाव दिल की डुबो रही है शाम मौज दर मौज हो रही है शाम ये सितारे नहीं है, आंसू है ऐसा लगता है रो रही है शाम बूढ़े सूरज ने झुक के दस्तक दी...

Read more »

0
दिल की कहानी देखो, सुनाता कहाँ से है - अतुल अजनबी
दिल की कहानी देखो, सुनाता कहाँ से है - अतुल अजनबी

पूछो न उससे कौन है, आता कहाँ से है दिल की कहानी देखो, सुनाता कहाँ से है आवाज़ गूँजती है हमेशा इक आस-पास है कौन मेरा, और बुलाता कहाँ से ह...

Read more »

3
हसरत है कि तुझे सामने बैठे कभी देखूं - किश्वर नाहिद
हसरत है कि तुझे सामने बैठे कभी देखूं - किश्वर नाहिद

हसरत है कि तुझे सामने बैठे कभी देखूं मैं तुझ से मुखातिब हूँ, तेरा हाल भी पूछूं दिल में है मुलाका...

Read more »
 
 
Top