0
मैंने देखा चेहरा चेहरा
सबसे अच्छा तेरा चेहरा

अपनी किस्मत में लिखा है
दूर से तकते रहना चेहरा

अच्छा लगता और ज्यादा
उसका रूठा-रूठा चेहरा

शब् को चाँद दिखाया मैंने
जबसे उतरा उसका चेहरा

अक्सर धोखा दे जाता है
दिल को छू लेने वाला चेहरा

आईने में शाम का मंज़र
कब तक देखू अपना चेहरा - महवर नूरी

Roman

maine dekha chehra-chehra
sabse achcha tera chehra

apni kismat me likha hai
door se takte rahna chehra

achcha lagta aur jyada
uska rutha-rutha chehra

shab ko chaand dikhaya maine
jabse utra uska chehra

aksar dhokha de jata hai
dil ko choone wala chehra

aaine me shaam ka manzar
kab tak dekhu apna chehra- Mahwar Noori

Post a Comment Blogger

 
Top