0
Noshi Gilani
तुमने तो कह दिया कि मोहब्बत नहीं मिली
मुझको तो ये भी कहने की मोहलत नहीं मिली

नींदों के देस जाते, कोई ख्वाब देखते
लेकिन दिया जलाने से फुरसत नहीं मिली

तुझको तो खैर शहर के लोगों का खौफ था
और मुझको अपने घर से इजाज़त नहीं मिली

फिर इख्तिलाफ-ए-राय की सूरत निकल पडी
अपनी यहाँ किसी से भी आदत नहीं मिली

बे-जार यूं हुए कि तेरे अहद मैं हमें
सब कुछ मिला, सुकून की दौलत नहीं मिली - नोशी गिलानी

मायने
बेजार= तंग आना, अहद वादा

Roman
Tumne to keh diya ki mohbbat nahi mili
mujhko to ye bhi kahne ki mohlat nahi mili

nindo ke des jate, koi khwab dekhte
lekin diya jalane se fusat nahi mili

tujhko to khair shahar ke logo ka khouf tha
aur mujhko apne ghar se ijajat nahi mili

phir ikhtilaf-e-rai ki surat nikal padi
apni yaha kisi se bhi aadat nahi mili

be-zar yu hue ki tere ahad me hame
sab kuch mila, sukun ki doulat nahi mili - Noshi Gilani

Her Official Website http://www.noshigilani.com/

Post a Comment Blogger

 
Top