1
मिरी ग़ज़ल की तरह उसकी भी हुकूमत है
तमाम मुल्क में वो सबसे खूबसूरत है

कभी-कभी कोई इंसान ऐसा लगता है
पुराने शहर में जैसे नयी ईमारत है

बहुत दिनों से मिरे साथ थी मगर कल शाम
मुझे पता चला वो कितनी खूबसूरत है

ये ज़ाईरान-ए-अलीगढ़ का खास तोहफ़ा है
मिरी ग़ज़ल का तबर्रुक दिलो की बरकत है- बशीर बद्र

मायने
ज़ाईरान-ए-अलीगढ़=अलीगढ़ के दर्शनार्थी, तबर्रुक=प्रसाद

[slider title="In Roman"]
miri ghazal ki tarah uski bhi hukumat hai
tamaam mulq me wo sabse khubsurat hai

kabhi-kabhi koi insaan aisa lagta hai
purane shahar me jaise nayi imarat hai

bahut dino se mire saath thi magar kal shaam
mujhe pata chala wo kitni khubsurat hai

ye zairaan-e-aligadh ka khas tohfa hai
miri ghazal ka tabrruk dilo ki barkat hai- Bashir Badr[/slider]

Post a Comment Blogger

  1. Bashir Badr Sahab Ki Ye Rachna Mujhe bahut Hi pasand hai,
    Isko publish karne ke liye sukriya.

    Anmol

    ReplyDelete

 
Top