0
तुमको देखा तो ये ख़याल आया
ज़िन्दगी धूप तुम घना साया

आज फिर दिल ने एक तमन्ना की
आज फिर दिल को हमने समझाया

तुम चले जाओगे तो सोचेंगे
हमने क्या खोया, हमने क्या पाया

हम जिसे गुनगुना नहीं सकते
वक़्त ने ऐसा गीत क्यूँ गाया - जावेद अख्तर

चलिए इसे सुनते है

Roman

Tumko dekha to ye khyal aaya
zindgi dhoop tum ghana saya

aaj fir dil ne ek tamnna ki
aaj fir dil ko hamne samjhaya

tum chale jaoge to sochenge
hamne kya khoya, hamne kya paya

ham jise gunguna nahi sakte
waqt ne aisa geet kyu gaya - Javed Akhtar

Post a Comment Blogger

 
Top