2

नशा पिलाके गिरना तो सबको आता है
मजा तो जब है की गिरतो को थाम ले साकी

जो बादाकश थे पुराने वो उठते जाते है
कही से आबे-बकाए-दवाम ले साकी

कटी है रात तो हंगामा गस्तरी में तेरी
सहर करीब है अल्ला का नाम ले साकी -अल्लामा इक़बाल
मायने
बादाकश=पीने वाले, आबे-बकाए-दवाम=अमृत

Roman

Nasha pilake girana to sabko aata hai
maja to jab hai ki girto ko tham le saki

jo badakash the purane wo uthte jate hai
kahi se aabe-bakaye-dawam le saki

kati hai rat to hangama gastari me teri
sahar kareeb hai allah ka naam le saki - Allama Iqbal

Post a Comment Blogger

  1. वाह! वाह!! बहुत सुन्दर...

    ReplyDelete
  2. वाह वाह जी कमाल हे.

    ReplyDelete

 
Top