0
बरबाद-ए-मोहब्बत की दुआ साथ लिए जा
टूटा हुआ इकरार-ए-वफ़ा साथ लिए जा

इक दिल था जो पहले ही तुझे सौंप दिया था
ये जान भी ऐ जान-ए-अदा साथ लिए जा

तपती हुई राहों में तुझे आँच न पहुँचे
दीवाने के अश्क़ों की घटा साथ लिए जा

शामिल है मेरा खून-ए-जिगर तेरी हिना में
ये कम हो तो अब खून-ए-वफ़ा साथ लिए जा

हम जुर्म-ए-मुहब्बत की सज़ा पाएंगे तन्हा
जो तुझसे हुई हो वो ख़ता साथ लिए जा - साहिर लुधियानवी

Roman

barbad-e-mohbbat ki dua sath liye ja
tuta hua iqrar-e-wafa sath liye ja

ik dil tha jo pahle hi tujhe soup diya
ye jaan bhi e jaan-e-ada sath liye ja

tapti hui raaho me tujhe aanch n pahuche
deewano ke ashko ki ghata sath liye ja

shamil hai mera khun-e-jigar teri hina me
ye kam ho to ab khun-e-wafa sath liye ja

ham jurm-e-muhbbat ki saja payenge tanha
jo tujhse hui wo khata liye ja - Sahir Ludhiyanvi

Post a Comment Blogger

 
Top